Home » Hindi » Automobile Hindi » आखिर रोड पर लगे Milestones अलग-अलग रंग के क्यों होते हैं? जानिए इसका जवाब

आखिर रोड पर लगे Milestones अलग-अलग रंग के क्यों होते हैं? जानिए इसका जवाब

नई दिल्ली. रोज सड़क पर ट्रैवल करते हुए आपको अलग-अलग रंग के Milestones  किनारे लगे हुए दिखाई दिए होंगे. लेकिन आपने कभी गौर किया है कि, रोड़ पर ऑरेंज, येलो, ब्लैक या ब्लू स्ट्रिप और ग्रीन कलर के Milestones लगे होते हैं. अगर आपने ऐसे Milestones देखें है तो क्या आपने इनके बारे में  सोचा हैं कि, आखिर रोड़ के किनारे लगे हुए Milestones आखिर इतने सारे कलर के क्यों होते हैं.

बता दें भारत में कुल 58 लाख 98 हजार किलोमीटर सड़क का नेटवर्क हैं. जिसमें ग्रामीण सड़क, राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग और एक्सप्रेस वे सभी शामिल हैं. इन सभी रोड़ों पर सरकार जानकारी रखने के लिए अलग-अलग कलर के Milestones लगाती है. जिससे लोगों को यात्रा के दौरान पता रहे कि, आखिर वह ग्राीमड़ सड़क पर चल रहे है या एक्सप्रेसवे पर चल रहे है. आइए जानते हैं सभी Milestones के कलर के बारे में…

यह भी पढ़ें: Ola Electric scooter S1 इस राज्य में है सबसे सस्ता, जानिए फुल प्राइस

ऑरेंज रंग के Milestones – अगर आपको रोड़ के किनारे येलो रंग के Milestones लगे हुए मिलें तो समझ लीजिए आप Rural रोड़ पर चल रहे हैं. ये सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना और जवाहरलाल नेहरू रोजगार योजना के तहत बनाई गई हैं. बता दें देश में 3 लाख 93 हजार ग्रामीण सड़क का नेटवर्क हैं. जिनसे देश के सभी ग्राम शहरों से जुड़ते हैं.

येलो रंग के Milestones – इस रंग के Milestones नेशनल हाईवे पर लगाए जाते हैं. अगर आपको रोड़ के किनारे येलो रंग के Milestones मिले तो आप समझले कि, आप नेशनल हाईवे पर चल रहे है. बता दें 2021 तक देश में कुल 1,51,019 किमी के नेशनल हाईवे का निर्माण किया जा चुका था.

यह भी पढ़ें: Tata Motors की कारों पर मिल रही है भारी छूट, टियागो, टिगोर और हैरियर जैसी कार हैं शामिल

ब्लैक और ब्लू स्ट्रीप के Milestones – अगर आपको रोड़ के किनारे ब्लैक और ब्लू कलर की स्ट्रीप वाले Milestones मिले तो आप समझ ले कि, आप शहर या जिले की रोड़ पर चल रहे हैं. आपको बता दें देश में 5 लाख 61 हजार 940 किमी शहरी रोड़ का नेटवर्क है.

ग्रीन कल के Milestones – इस तरह के Milestones राज्य के हाईवे पर लगाए जाते है. जो एक शहर को दूसरे शहर से जोड़ते हैं. 2016 के आंकड़ों के मुताबिक देश में 1 लाख 76 हजार 166 किमी के state highways का नेटवर्क था. वहीं आपको बता दें ब्रिटिश टाइम में नागपुर में Zero mile centre स्थापित किया गया था. जहां से सभी शहरों की दूरी की गणना की जाती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.


Source link

x

Check Also

खत्म हुआ इंतजार! नई Bajaj Pulsar 250 लॉन्च के लिए तैयार, इस दिन होगी भारत में एंट्री

नई दिल्ली।बजाज ऑटो (Bajaj Auto) भारतीय बाजार में अपनी नई Bajaj Pulsar 250 को लॉन्च ...