Home » Coronavirus News » एलोवेरा में मौजूद ‘एलो लेटेक्‍स’ के बारे में जानते हैं? सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान

एलोवेरा में मौजूद ‘एलो लेटेक्‍स’ के बारे में जानते हैं? सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान

Aloe Vera Latex Harmful Effects : एलोवेरा (Aloe Vera) का प्रयोग हम बेहतर सेहत से लेकर खूबसूरत स्किन (Skin) और बालों के लिए सालों से करते आए हैं. यह स्किन को तो प्रॉब्‍लम फ्री बनाता ही है चेहरे को सुंदर बनाने के काम भी आता है. इसके अलावा, कई लोग हैं जो हेल्‍थ (Health) प्रॉब्‍लम्‍स को दूर करने के लिए सुबह सुबह एलोवेरा जूस पीते हैं. दरअसल एलोवेरा एक ऐसा पौधा माना जाता रहा है जिसमें केवल फायदे ही फायदे है. लेकिन ऐसा नहीं है.

क्‍या होता है नुकसान

मायो क्‍लीनिक के अनुसार, अगर हम इसके पत्‍ते में मौजूद एलो लैटेक्‍स को या पूरे पत्‍ते को खा लें तो यह हमारी सेहत के लिए काफी नुकसान पहुचा सकता है. अगर कई दिनों तक रोज 1 ग्राम एलो लैटक्‍स का सेवन किया जाए तो यह किडनी फेलियर और कैंसर की वजह भी बन सकता है. इसके सेवन से डाइरिया और पेट में दर्द भी हो सकता है.

इसे भी पढ़ें : कमर की चर्बी नहीं घटती तो तेज दौड़ लगाकर करें फैट बर्न, जानें दौड़ने का सही तरीका

कैसा दिखता है ये

आपने देखा होगा कि जब इसे तोड़ा जाता है तो इसमें से पीले रंग का पदार्थ निकलता है. इसी पीले रंग के पदार्थ को एलो लेटेक्‍स कहते है. यह  बहुत सारी बीमारियों का कारण बनता है

क्‍या कहता है शोध

2011 अमेरिकी सरकार ने इसका लैब टेस्‍ट कराया तो पाया कि चटनी, जैम, मुरब्बा या सब्जी में अगर एलोवेरा के लेटेक्‍स का इस्तेमाल किया जाए तो बॉडी में कैंसर पैदा हो सकता है. इसके अलावा त्वचा पर इसे लगाया जाए तो ये एक्जिमा, रेशैज और अन्य स्किन प्रॉब्‍लम्‍स की वजह बन सकती है.

और भी है कई नुकसान

-मैरीलैंड मेडीकल सेंटर यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट के अनुसार एलो लेटेक्‍स यूटेरिन कॉन्ट्रेक्शन पैदा करता है जिससे गर्भपात भी हो सकता है.

– एलोवेरा में मौजूद लैक्सेटिव, एंथ्राक्विनोन आदि तत्व इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम या गैस की समस्या कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : उम्र भर रहना है फिट तो जानें किन चीजों को खाली पेट खाएं और किसे नहीं?

-एलो लेटेक्स बर्थ डिफेक्ट्स का भी कारण बनता है.

-ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एलोवेरा का इस्तेमाल बिल्‍कुल ना करें.

– ऐलोवेरा के अधिक सेवन से बॉडी में पोटैशियम की कमी हो जाती है जिससे दिल की धड़कन अनियमित हो सकती हैं और कमजोरी महसूस हो सकती है.

-इसमें मौजूद लैक्सेटिव कुछ दवाओं को अवषोषित होने से भी रोक सकता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.


Source link

x

Check Also

Jharkhand: लड़की से प्यार की सजा इस युवक के लिए मौत थी

<p>झारखंड के दुमका में एक लड़के को पहले बेरहमी से पीटा गया और फिर उसे ...