Home » Hindi » Health Hindi » त्वचा पर दिख सकते हैं ब्लड शुगर बढ़ने के संकेत, इस तरह पहचानें

त्वचा पर दिख सकते हैं ब्लड शुगर बढ़ने के संकेत, इस तरह पहचानें

Symptoms of Diabetes: डायबिटीज एक ऐसी समस्या बन गयी है जिससे बच पाना आजकल की लाइफस्टाइल में काफी मुश्किल होता जा रहा है. कई लोग बहुत कम उम्र में ही डायबिटीज का शिकार हो रहे हैं. डायबिटीज आपकी सेहत पर कई तरह से असर डालती है. इससे शरीर के कई दूसरे अंगों पर बुरा असर पड़ता है. डायबिटीज से हार्ट संबंधी परेशानी होने लगती हैं. आंखों के कमजोर होने की एक बड़ी वजह डायबिटीज है. डायबिटीज होने पर किडनी पर भी असर पड़ता है. डायबिटीज से दूसरे अंगों के साथ ही त्वचा पर भी असर पड़ता है. इसलिए समय रहते आपको डायबिटीज की पहचान कर लेनी चाहिए. शरीर में ब्लड शुगर बढ़ने पर त्वचा पर कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं. इन्हें आपको जानना जरूरी है, तो आइए जानते हैं.

डायबिटीज के संकेत 

शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ने पर बार-बार पेशाब आने लगता है. डायबिटीज में बार-बार टॉयलेट जाने से शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या होने लगती है. इससे आपकी त्वचा में रुखापन आ जाता है. इसके अलावा डायबिटीज डायग्नोज होने से पहले स्किन में कुछ संकेत भी दिखने लगते हैं. जिससे आप समझ सकते हैं कि खून में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ रहा है. इसे प्री-डायबिटीज के लक्षण कहते हैं. ऐसे में समय रहते लक्षणों की पहचान करके आपको इलाज शुरू करवा देना चाहिए, नहीं तो परेशानी बढ़ सकती है. 

गहरे काले धब्बे (Dark Patch On Skin)- डायबिटीज के ज्यादातर मरीजों को त्वचा पर गहरे काले धब्बे होने लगते हैं. आपके गले या अंडरआर्म में काले पैच बन सकते हैं. इन्हें छूने पर आपको मखमल जैसा महसूस होगा. ये प्री-डायबिटीज के संकेत हैं. मेडिकल भाषा में इसे एकैनथोसिस निग्रीकैन्स कहते हैं. इससे आप समझ सकते हैं कि खून में इंसुलिन बढ़ गया है.

त्वचा पर लाल, पीले या ब्राउन धब्बे- डायबिटीज होने पर स्किन पर खुजली या दर्द होना भी संकेत है. कई लोगों को त्वचा पर पिंपल्स जैसे होने लगते हैं. आपकी स्किन पर पीले, लाल या ब्राउन धब्बे जैसे बन जाते हैं तो सभी प्री-डायबिटीज के लक्षण हैं. इसे नेक्रोबायोसिस लिपोडिका कहते हैं. अगर ऐसे संकेत आपको नज़र आएं तो तुरंत अपना शुगर लेवल चेक करा लें. 

घाव देरी से ठीक होना- शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ने पर घाव काफी लंबे समय तक ठीक नहीं होते हैं. जिससे नसों को नुकसान पहुंच सकता है और ब्लड सर्कुलेशन में भी दिक्कत हो सकती है. नर्व  डैमेज होने से त्वचा पर हुए घाव को ठीक करना मुश्किल हो जाता है. इस तरह की समस्या को डायबिटिक अल्सर कहते हैं. अगर आपको भी ऐसी परेशानी हो रही है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: 5 हेल्दी कार्ब, जिनसे कंट्रोल रहेगा आपका ब्लड शुगर लेवल

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator


Source link

x

Check Also

रोज जरूर खाएं एक केला, स्‍ट्रोक के खतरे को करता है कम

Health Benefits Of Banana: सुपर फूड कैटेगरी में शामिल केला (Banana) दुनियाभर में काफी प्रचलित ...