Home » Coronavirus News » NEET Exam Tips: क्या नीट एग्जाम केवल बुद्धिमान स्टूडेंट्स के लिए है? ऐसे करें तैयारी

NEET Exam Tips: क्या नीट एग्जाम केवल बुद्धिमान स्टूडेंट्स के लिए है? ऐसे करें तैयारी

हाइलाइट्स

  • क्या नीट एग्जाम केवल बुद्धिमान स्टूडेंट्स के लिए है?
  • जानें कैसे कर सकते हैं नीट की तैयारी
  • आसान टिप्स की मदद से करेंगे अच्छा स्कोर

NEET 2021 Exam Preparation Tips: कई NEET उम्मीदवारों के लिए यह सबसे आम सवाल है। राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश एग्जाम जिसे आमतौर पर नीट के रूप में जाना जाता है, इसे सैकंडरी लेवल की पढ़ाई में सबसे मुश्किल एग्जाम में से एक माना जाता है। इस कॉमन एंट्रेंस एग्जाम में कट-ऑफ मार्क्स उन उम्मीदवारों के लिए बेहद जरूरी है, जो सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में एंट्री पाने का लक्ष्य रखते हैं। न केवल भारत में, NEET में अच्छे स्कोर वाले उम्मीदवार नेपाल जैसे विदेशों में भी अपनी मेडिकल एजुकेशन प्राप्त कर सकते हैं। NEET Physics Kota के डायरेक्टर, प्रशांत शर्मा ने नीट एग्जाम से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताया है।

नीट एग्जाम को मुश्किल क्यों माना जाता है?
नीट एग्जाम बाकी आम एंट्रेंस एग्जाम की तरह ही है। लेकिन, नीट एग्जाम में बैठने वाले उम्मीदवारों की संख्या मेडिकल कॉलेज में सीटों की संख्या से बीस गुना अधिक है। इससे मेडिकल उम्मीदवारों के लिए NEET एग्जाम में मुश्किलें होना और मेडिकल संस्थानों में एंट्री लेना मुश्किल हो जाता है।

क्या एक एवरेज स्टूडेंट NEET एग्जाम को क्रैक कर सकता है?
ये सभी टैग (शानदार, एवरेज और कम पढ़ने वाले) सिर्फ नाम हैं और ये स्टूडेंट्स के साथ तभी जुड़ते हैं, जब वे पढ़ाई में आगे बढ़ने के लिए ईमानदारी से प्रयास करते हैं। हमेशा याद रखें कि कॉम्पिटिशन वाले एग्जाम को पास करने के लिए किसी भी स्टूडेंट के लिए अत्यधिक मेहनत और समर्पण जरूरी है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप एक बुद्धिमान या एवरेज स्टूडेंट हैं। आप किसी भी एग्जाम में आसानी से अच्छे स्कोर पा सकते हैं, अगर आप पूरी लगन और ईमानदारी से एग्जाम की तैयारी करते हैं और NEET एग्जाम बेहद मुश्किल नहीं है।

नीट एग्जाम को पास करने के लिए आपको किसी सुपर-पावर की जरूरत नहीं है। इसलिए, आँख बंद करके दौड़ में शामिल होने के बजाय, अपनी पॉजिटिव और नेगेटिव बातों को समझें और उसी के मुताबिक अपनी तैयारी के प्रोग्राम की प्लानिंग बनाएं।
इसे भी पढ़ें:Career in Electronics Engineering: इस फील्ड में मिलती हैं हाई पेड जॉब्स, जानें पूरी डीटेल

ज्यादा वेटेज वाले टॉपिक्स पर ध्यान दें
नीट सिलेबस 2021 में शामिल सभी टॉपिक्स को आँख बंद करके देखने के बजाय, अधिक वेटेज वाले टॉपिक पर अधिक ध्यान दें। NEET एग्जाम में हर एक भाग (भौतिकी, जीव विज्ञान और रसायन विज्ञान) के लिए वेटेज को समझें और एक अच्छी व रोजाना प्रैक्टिस की प्लानिंग करें।

क्लास 11वीं और 12वीं की बोर्ड एग्जाम की तैयारी करेगी मदद
नीट सिलेबस के बड़े पार्ट्स में कक्षा 11वीं और 12वीं के विषय शामिल हैं। इसलिए, यदि आप अपनी बोर्ड एग्जाम के लिए अच्छी तैयारी करते हैं, तो यह आपकी नीट मेडिकल एग्जाम में आपके स्कोर को बेहतर बनाने में मदद करेगा, क्योंकि विषय लगभग समान हैं। रिवीजन और प्रैक्टिस के लिए दिन में कम से कम 3-4 घंटे जरूर दें।
इसे भी पढ़ें:Career In Space Science: क्‍या है स्‍पेस साइंस? जानें कैसे बनाएं इसमें करियर और जॉब ऑप्शन

पिछले क्वेशन पेपर रिवाइज करें
NEET के पिछले क्वेशन पेपर को रिवाइज करना NEET 2021 की तैयारी के लिए फायदेमंद होगा। अगर आपको एग्जाम में बार-बार वही प्रश्न मिलते हैं, तो यह अच्छा होगा। अगर नहीं, तो पिछले क्वेशन पेपर का रिवीजन आपको नीट एग्जाम के लिए जरूरी और अच्छी प्रैक्टिस करने में मदद करता है। यह आपको NEET सिलेबस में शामिल टॉपिर से जुड़े रहने में भी मदद करता है।

ध्यान रखें ये जरूरी बातें
अपने आप को कभी कम मत समझिए। आश्वस्त रहें और हमेशा याद रखें कि कुछ भी असंभव नहीं है। यदि आप ईमानदारी से प्रयास करते हैं और अच्छी तैयारी करते हैं, तो आप नीट एग्जाम में अच्छे अंक प्राप्त करने में जरूर सक्षम होंगे।


Source link

x

Check Also

Data | COVID-19 not an old man’s disease in poorer nations

Data | COVID-19 not an old man’s disease in poorer nations

Nearly 54% of pandemic-related deaths in lower middle-income countries in 2020 were among people under ...